सुरक्षा बलों ने किया कवरेज के लिए गए पत्रकार को गिरफ्तार

पाकिस्तान में एक पत्रकार को कवरेज के दौरान गिरफ्तार किया गया है। पश्तूनों और सैनिकों के बीच हिंसक संघर्ष को कवर करने के सिलसिले में गए निजी टीवी चैनल ‘खैबर न्यूज’ में संवाददाता के रूप में काम करने वाले गौहर वजीर को गिरफ्तार किया गया। उन पर पाकिस्तान के सबसे बड़े अल्पसंख्यक समुदाय पश्तूनों के आंदोलन में शामिल होने का आरोप है। पश्तून तहफ्फुज मूवमेंट  में हिस्सा लेने को आधार बनाकर की गई पत्रकार की गिरफ्तारी का विरोध भी शुरू हो गया है। न्यूयॉर्क स्थित पत्रकारों की कमिटी समेत कई संगठनों ने गौहर वजीर को रिहा करने की मांग की है।

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते सुरक्षा बलों द्वारा प्रदर्शनकारियों पर की गई गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई थी और 50 से ज्यादा घायल हो गए थे। स्थानीय पत्रकारों के अनुसार, पश्तून तहफ्फुज मूवमेंट के आंदोलन के दौरान नेताओं को मंच तक पहुंचने से रोकने के लिए पाकिस्तानी सेना ने वहां बैरियर लगा दिए थे। जब प्रदर्शनकारियों ने इन बैरियर को तोड़ने का प्रयास किया तो सेना ने उन पर गोलीबारी कर दी थी।

इसके बाद सुरक्षा बलों ने कार्रवाई करते हुए गौहर वजीर को भी गिरफ्तार कर लिया था। अपनी गिरफ्तारी से कुछ समय पूर्व ही गौहर ने पश्तून तहफ्फुज मूवमेंट के प्रमुख नेता मोहसिन डावर का इंटरव्यू लिया था, जिन्हें पिछले साल पाकिस्तान नेशनल असेंबली के लिए चुना गया था। वज़ीर और अन्य लोगों को मैंटेनेंस ऑफ़ पब्लिक आर्डर आर्डिनेंस के तहत गिरफ्तार किया गया है।