राम मंदिर में अंशदान कर समाज का प्रत्येक व्यक्ति राष्ट्रीय प्रवाह का अंग बनेगा – महामंडलेश्वर कृष्णशाह विद्यार्थी महाराज

त्रिलोकपुरी के वाल्मीकि मंदिर में महामंडलेश्वर कृष्णशाह विद्यार्थी महाराज के सानिद्ध्य में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए निधि समर्पण अभियान के अंतर्गत भजन व निधि संग्रह का कार्यक्रम आयोजिक किया गया. विश्व हिन्दू परिषद् के अन्तराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष श्री आलोक कुमार मुख्य वक्ता के रूप में इसमें सम्मिलित हुए.

कृष्ण शाह विद्यार्थी ने बताया की अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर बनाने के लिए समाज में ऐसे बहुत से सक्षम व्यक्ति हैं जिन्होंने अकेले ही सारा निर्माण खर्च उठाने की बात कही है लेकिन संघ, विश्व हिन्दू परिषद् का मानना है की जहाँ एक और बड़े-बड़े बंगले में रहने वाले व्यक्ति जहाँ आज इसमें योगदान दे रहे हैं वहीं समाज के अन्दर झुग्गी, अनधिकृत कॉलोनियों में रहने वाला व्यक्ति भी इसमें सहभागी बने. इसलिए निधि समर्पण के लिए 10 रूपए से रसीद की शुरुआत की है. समाज का प्रत्येक व्यक्ति श्रीराम मंदिर से इस तरह से जुड़ेगा और जब कभी अयोध्या में मंदिर बनने के पश्चात दर्शन करने जाएगा तो भावनात्मक रूप से इस राष्ट्र मंदिर से जुड़कर स्वतः राष्ट्रीय प्रवाह का अंग बनेगा. इसके लिए लगभग 13 करोड़ परिवारों से संपर्क किया जाएगा. 5.25 लाख गावों तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता प्रत्येक व्यक्ति तक पहुँचने का प्रयास करेंगे. उन्होंने समस्त समाज से आह्वान किया कि दिल्ली में 1 जनवरी से आरम्भ और 27 फरवरी तक चलने वाले निधि समर्पण अभियान में अधिक से अधिक लोग जुड़ें. इस अभियान में अंशदान करने के बाद अपने जीवन में कम से कम एक बार अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के दर्शन करने अवश्य जाएं.

विहिप के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर हम सभी का संकल्प है. सामाजिक एकता व सद्भाव का एक स्वर्णिम अवसर हम सबके सामने है. श्रीराम जी की कथा से रामायण के माध्यम से जगत का परिचय करवाने वाले भगवान वाल्मीकि का स्थान भी रामजन्मभूमि मंदिर में बनेगा. भगवान वाल्मीकि के बिना श्रीराम का चरित्र अपूर्ण है. इस गणतंत्र दिवस पर सर्वश्रेष्ठ झांकी का पुरस्कार प्राप्त करने वाली श्रीराम मंदिर की झांकी में सबसे आगे भगवान वाल्मीकि जी प्रतिमा का होना इस तथ्य प्रकट करता है. यह झांकी राम मंदिर के पीछे बनने वाले संग्रहालय में भी रखी जाएगी. भगवान राम भगवान राम हैं यह हमें भगवान वाल्मीकि ने बताया. 

कार्यक्रम के पश्चात त्रिलोकपुरी में विहिप कार्यकर्ता स्वामी कृष्ण शाह विद्यार्थी व अलोक कुमार के साथ त्रिलोकपुरी व मयूर विहार में समाज के सभी लोगों के घरों में राम मंदिर निर्माण के जनजागरण व सामाजिक एकता आह्वान करते हुए निधि समर्पण की राशि एकत्र करने के लिए गए. मयूर विहार में रामभक्तों की 168 टोलियाँ प्रत्येक हिन्दू परिवार में निधि संग्रह के लिए जा रहे हैं. इस अवसर पर साह पंथ वाल्मीकि संप्रदाय के मुकेश शाह जी महाराज, गोपी साह महाराज, चिल्ला गाँव रोड मयूर विहार के महंत राममंगल दास महाराज की मंच में गरिमामयी उपस्थिति रही.